कुणाल घोष का आरोप है की ‘दो बीजेपी नेताओं ने NIA ऑफिसर के घर में जाकर TMC वर्कर्स की सौंपी लिस्ट’,

0

कुणाल घोष का आरोप है की ‘दो बीजेपी नेताओं ने NIA ऑफिसर के घर में जाकर TMC वर्कर्स की सौंपी लिस्ट’,

 

2024 के लोकसभा चुनाव में उथल-पुथल के बीच टीएमसी प्रमुख कुणाल घोष ने बीजेपी पर कानून प्रवर्तन एजेंसियों के साथ गलत व्यवहार करने का आरोप लगाया है. कहा जा रहा है कि बीजेपी जानती है कि पश्चिम बंगाल की जनता पूरी तरह से टीएमसी के पक्ष में है, यही वजह है कि सीबीआई, ईडी और एनआईए जैसी एजेंसियों का दुरुपयोग किया जा रहा है

टीएमसी नेता कुणाल घोष ने शुक्रवार (29 मार्च) को न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए दावा किया उन्हें सूत्रों से जानकारी मिली है कि बीजेपी के दो नेताओं ने एनआईए के एक अधिकारी के घर पर जाकर उनसे मुलाकात की और टीएमसी कार्यकर्ताओं और नेताओं की एक सूची सौंपी ताकि उन्हें परेशान किया जा सके.

बीजेपी पर टीएमसी नेता कुणाल घोष ने लगाया ये आरोप

कुणाल घोष ने कहा, ”बीजेपी सीबीआई, ईडी, एनआईए, इनकन टैक्स को मिसयूज कर रही है. एनआईए से एक सोर्स इन्फॉर्मेशन दे रहा है. दो बीजेपी नेताओं (दोनों लोकसभा उम्मीदवार हैं) ने एनआईए (कोलकाता) के ऑफिसर धनराम सिंह के घर में दो फेज में बैठक की और तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं और नेताओं की एक लिस्ट दी और कहा कि जाइए उनको बुलाइए, समन जारी कीजिए और अरेस्ट कीजिए, डिटेन कीजिए… इसके अनुसार एनआईए ने कुछ नोटिस जारी किए. बीजेपी के एक नेता ने निजाम पैलेस में आकर ऑफिसर से मुलाकात की.

उन्होंने कहा, ”सूत्रों के अनुसार उनकी एक प्लानिंग है कल से दो-तीन दिन, दो-तीन फेज में, दो-तीन डिस्ट्रिक्ट में तृणमूल के कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार करने, हिरासत में लेने और घर में रेड करने की. तो हम लोग पूछते हैं कि ये जो इन्फॉर्मेशंस हैं, ये सच हैं या नहीं? एनआईए के एक ऑफिसर के घर में जाकर बीजेपी मीटिंग कर रही है, घर में जाकर लिस्ट दे रही है और लिस्ट के अनुसार वो लोग काम कर रहे हैं और एनआईए का एक सेक्शन ही इनसे नाराज हो गया है. तो ये सच है या नहीं? अगर सच है तो उनको एक बार स्टेप लेना चाहिए और चुनाव से पहले ऐसा बीजेपी के लिए नहीं करना चाहिए.

टीएमसी नेता ने NIA से दागे सवाल?

टीएमसी नेता कुणाल घोष ने अपने X हैंडल से भी एक पोस्ट करके एनआईए से सवाल दागे हैं. उन्होंने जांच एजेंसी से पूछा है, ”क्या यह सच है कि बीजेपी के दो नेताओं ने एसपी डीआर सिंह के साथ उनके न्यू टाउन स्थित आवास पर दो बार मुलाकात की, टीएमसी नेताओं और कार्यकर्ताओं को तत्काल बुलाने और गिरफ्तारी के लिए सूची सौंपी या नहीं. कुछ नोटिस पहले ही जारी किए जा चुके हैं. कल कुछ और जारी किये जाएंगे. ये तथ्य हैं या नहीं. क्या किसी बीजेपी नेता ने इसी उद्देश्य से उनसे निजाम पैलेस कार्यालय में मुलाकात की थी या नहीं? क्या एनआईए कल बीजेपी की ओर से दी गई सूची के अनुसार छापेमारी और कुछ टीएमसी कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार करने की योजना बना रही है या नहीं?.

Leave A Reply

Your email address will not be published.